HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Sirmaur Police का खण्डन, हेड कांस्टेबल का लापता होना : पुलिस पर सवालिया निशान 

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

Sirmaur Police : परिजनों ने अपने स्तर पर की तलाश शुरू Sirmaur Police ने देर शाम जारी प्रैस बयान में बताया है कि 8 जून को कालाअंब थाना में आईपीसी (IPS) की धारा-341, 323, 147, 148 व 149 के तहत मुकदमा दायर हुआ है। पंजाब की एक स्कॉर्पियो में सवार ...

विस्तार से पढ़ें:

Sirmaur Police : परिजनों ने अपने स्तर पर की तलाश शुरू

Sirmaur Police ने देर शाम जारी प्रैस बयान में बताया है कि 8 जून को कालाअंब थाना में आईपीसी (IPS) की धारा-341, 323, 147, 148 व 149 के तहत मुकदमा दायर हुआ है। पंजाब की एक स्कॉर्पियो में सवार युवकों ने पास न देने को लेकर ट्रैक्टर चालक, उसके पिता व चाचा के साथ मारपीट की थी। घटना के जांच की जिम्मेदारी मुख्य आरक्षी जसबीर को सौंपी गई थी। लेकिन स्थानीय शिकायतकर्ता मुख्य आरक्षी के अन्वेषण व व्यवहार से खुश नहीं थे।

Sirmaur Police का खण्डन, हेड कांस्टेबल का लापता होना : पुलिस पर सवालिया निशान 

उक्त फाइल की जांच के दौरान उच्च अधिकारियों द्वारा अनियमितताएं पाई गई थी। जिसके बाद मुख्य आरक्षी को कानून के मुताबिक जांच करने के आदेश दिए गए थे, लेकिन बिना किसी कारण मुख्य आरक्षी ने वीडियो सोशल मीडिया में वायरल किए हैं। जिसमे मुख्य आरक्षी पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों पर गैर जिम्मेदाराना व झूठे आरोप लगाता नजर आ रहा है और पुलिस विभाग की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है।

Sirmaur Police द्वारा सोशल मीडिया में वायरल वीडियो के माध्यम से लगाए गए आरोपों का खंडन  किया गया है।

ऑन कैमरा दिया इस्तीफा 

उल्लेखनीय है कि सिरमौर जनपद के कालाअंब थाना में तैनात मुख्य आरक्षी जसबीर सैनी लापता है। मुख्य आरक्षी ने ऑन कैमरा पुलिस विभाग के शीर्ष अधिकारी पर प्रताड़ना का आरोप लगाने के दौरान इस्तीफा भी देने की बातें कही है। बीती रात से हैड कांस्टेबल घर नहीं पहुंचा है। मुख्य आरक्षी के सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आए। वीडियो में कहा गया है कि छोटे से मामले में हत्या के प्रयास की धारा-307 लगाने का दबाव विभागीय अधिकारियों द्वारा डाला जा रहा था।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Also Read : Sirmaur : खाई में गिरी कार, हरियाणा के पर्यटक की गई जान

हैड कांस्टेबल ने वायरल  पुलिस अधीक्षक ने महज आधे घंटे में कार्यालय में हाजिर होने के निर्देश दिए। तेज रफ्तार में नाहन पहुंचा था। इस दौरान रास्ते में दुर्घटना भी हो सकती थी। पांवटा साहिब के नवादा का रहने वाला मुख्य आरक्षी जसबीर सैनी करीब डेढ़ साल से कालाअंब में तैनात है।

वीडियो के एक हिस्से में मुख्य आरक्षी हुआ भावुक 

तकरीबन 10 मिनट के वीडियो में मुख्य आरक्षी जसबीर सैनी ने सवाल उठाया कि 307 सेक्शन कैसे लगा सकते हैं, अफसर मुझ पर ये सेक्शन लगाने का दबाव डाल रहे थे। इसके विपरीत पीड़ित पक्ष पुलिस से सहयोग नहीं कर रहा था। जो अपराध नहीं किया है उसमे कैसे किसी को आरोपी बनाकर, झूठे मामले में किसी को गिरफ्तार किया जा सकता है।

वीडियो के एक हिस्से में नम आंखों से मुख्य आरक्षी ने कहा है कि वो भी किसी का बाप है, बेटा है। वीडियो में जसवीर के डिप्रेशन में होने की बात कर रहा है। इसके बाद हिमाचल पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

Sirmaur Police का खण्डन, हेड कांस्टेबल का लापता होना : पुलिस पर सवालिया निशान 

मुख्य आरक्षी के परिजनों की माने तो जसबीर मंगलवार को एसपी से मिलने आया था तथा उसके बाद पूरी घटना घटी है। जसवीर फोन व कार कालाअंब में  छोड़कर लापता हुआ है। परिवार कालाअंब इलाके की सीसी फुटेज को अपने स्तर पर खंगाल रहा है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नाहन से कालाअंब लौटते वक्त जसवीर द्वारा वीडियो बनाए गए है। जिसके बाद कालाअंब में कार पार्क करने के बाद लापता हो गया है। परिजनों ने अपने स्तर पर तलाश शुरू की हुई है।

वीडियो वायरल के बाद पुलिस का बयान जारी होना खड़े करता है सवाल 

आश्चर्य इस बात से हो रहा है की SP Sirmaur रमन मीणा की प्रेस बयान ऐसे समय पर जारी हुआ है जब मुख्य आरक्षी जसवीर सिंह का वीडियो सोशल मीडिया पर  वायरल हुआ है और उसके बाद से जसवीर लापता है।  उक्त मामले में इससे पहले Sirmaur Police की कोई भी प्रेस बयान या जांच से संबंधित कोई भी प्रेस कांफ्रेस जारी नहीं हुई है।  अलबत्ता मामले में Sirmaur Police की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगना लाजमी है।