HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Nahan नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी पर भाजपा पार्षदों ने लगाए गंभीर आरोप

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

Nahan नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी की कार्य प्रणाली से नाराज भाजपा पार्षद देश की सबसे दूसरी पुरानी नगर परिषद Nahan में भाजपा समर्थित पार्षद  नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी की कार्यप्रणाली से खफा है। आरोप है कि नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद के कार्यों को गंभीरता से नहीं ...

विस्तार से पढ़ें:

Nahan नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी की कार्य प्रणाली से नाराज भाजपा पार्षद

देश की सबसे दूसरी पुरानी नगर परिषद Nahan में भाजपा समर्थित पार्षद  नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी की कार्यप्रणाली से खफा है। आरोप है कि नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद के कार्यों को गंभीरता से नहीं लेते जिससे शहर के विकास कार्यों में रोक लगी हुई है।

Nahan नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी पर भाजपा पार्षदों ने लगाए गंभीर आरोप

पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा पार्षदों ने बताया कि पिछले लंबे समय से कई ऐसे प्रस्ताव जो नगर परिषद की मासिक बैठक में विकास कार्य को लेकर पारित किए गए मगर उनको आगे नहीं बढ़ाया जा रहा है और नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी विकास कार्यों को लेकर गंभीर नहीं है ।

उन्होंने कहा कि 80% ऐसे विकास कार्य पर काम नहीं शुरू हुआ है जिनको नगर परिषद की हाउस द्वारा पारित किया गया था। उन्होंने आरोप यह है भी आरोप लगाया कि नियमों को दरकिनार कर कई काम शुरू भी किए गए है जिनको शुरू नहीं किया जा सकता था।

Also Read : Nahan विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी ने किया चुनाव प्रचार

BJP पार्षदों ने कहा कि नगर परिषद से जुड़े किसी भी मामले को लेकर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी की कार्रवाई संतोष जनक नहीं है उन्होंने कहा कि कहीं ऐसे प्रस्ताव कार्यकारी अधिकारी के सामने रखे गए थे जिसमें आवश्यक कार्रवाई कमेटी के नियमों के उल्लंघन करने वालले लोगो  के खिलाफ की जानी थी मगर उनके द्वारा वह कार्रवाई नहीं की जा रही है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

उन्होंने बताया कि नगर परिषद के महिला केंद्र में रात के समय कुछ पुरुष के जाने का मामला सामने आया था और उसे पर कार्रवाई की मांग की गई थी मगर कार्यकारी अधिकारी द्वारा उसे भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।