HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Loksabha Chunav के लिए सीटू ने जारी किया मजदूरों का घोषणापत्र

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

Loksabha Chunav : मोदी सरकार को सत्ता से हटाने का लिया संकल्प सीटू जिला सोलन का अधिवेशन बद्दी में आयोजित किया गया। Loksabha Chunav को लेकर सीटू की समझदारी को मजदूरों तक पहुंचाने व मोदी हटाओ देश बचाओ अभियान को मजबूत करने के लिए इस अधिवेशन का आयोजन किया गया। ...

विस्तार से पढ़ें:

Loksabha Chunav : मोदी सरकार को सत्ता से हटाने का लिया संकल्प

सीटू जिला सोलन का अधिवेशन बद्दी में आयोजित किया गया। Loksabha Chunav को लेकर सीटू की समझदारी को मजदूरों तक पहुंचाने व मोदी हटाओ देश बचाओ अभियान को मजबूत करने के लिए इस अधिवेशन का आयोजन किया गया।

Loksabha Chunav के लिए सीटू ने जारी किया मजदूरों का घोषणापत्र

अधिवेशन में रैकेट, जुपिटर, ग्लेनमार्क, अल्ट्राटेक सीमेंट प्लांट भागा, बघेरी, आइसोलोयड, अल्बिया, जीएमपी, आंगनबाड़ी, मिड डे मील, मनरेगा, निर्माण यूनियनों से जुड़े  सैंकड़ों मजदूरों व कर्मचारियों ने भाग लिया। अधिवेशन में विजेंद्र मेहरा, मोहित वर्मा, दलजीत सिंह, राकेश, देवराज बबलू, अनिल कौशल, विकास, राजेन्द्र, सुनील, गुरदेव, बलबीर, अजय, कृष्ण पाल, सुरेश, राजेश, दीप, नीरज, देवेंद्र, अनिल आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।

अधिवेशन का उद्घाटन सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा ने किया। सीटू जिलाध्यक्ष मोहित वर्मा ने अधिवेशन का समापन किया। उन्होंने वर्तमान समय के राजनीतिक हालात पर विस्तार से बात रखते हुए मजदूरों से Loksabha Chunav मोदी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने व भाजपा को हराने के आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जब से पिछले दस साल से मोदी सरकार सत्ता में आई है तब से वह लगातार मजदूरों के अधिकारों पर हमले कर रही है।

मोदी सरकार ने मजदूरों के लंबे संघर्षों और कुर्बानियों के बाद हासिल किए गए चबालिस श्रम कानूनों को समाप्त करके इन्हें मजदूर विरोधी व पूंजीपति परस्त चार लेबर कोडों में बदल दिया है। ये लेबर कोड कॉरपोरेट जगत व उद्योगपतियों को ही फायदा पहुंचाते हैं। इन्हें मजदूरों की जिंदगी को बंधुआ मजदूरी की तरफ़ ले जाने के लिए तैयार किया गया है।

Loksabha Chunav : मोदी सरकार में बेरोजगारी चरम पर, मंहगाई आसमान छू रही

मोदी सरकार की कारगुजारियों के चलते देश में बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है और मंहगाई आसमान छू रही है। यहां तक कि गरीब लोगों के बच्चों को सेना के जरिए सरकारी नौकरी हासिल करने के रास्ते को बंद करने के लिए अग्निवीर योजना को लाकर देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

देश के प्राकृतिक व सार्वजनिक संसाधनों को मोदी सरकार द्वारा अपने चंद कॉरपोरेट मित्रों के हवाले किया जा रहा है। लोगों के रोज़मर्रा के मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए मोदी सरकार द्वारा धार्मिक मसलों को ढाल बनाया जा रहा है। जहां एक तरफ लगातार जनता पर जीएसटी जैसे टैक्स थोपे गए हैं वहीं पर कॉरपोरेट घरानों को लाखों करोड़ रुपयों की टैक्स व कर्ज़ा माफी दी गई है।

Also Read : Loksabha Chunav : हिमाचल में चारों सीटों के लिए चुनाव लड़ेगी बसपा, प्रत्याशी घोषित

इस से जाहिर होता है कि मोदी सरकार आम जनता की जेब पर भारी भरकम टैक्स का बोझ डालकर अपने चंद कॉर्पोरेट दोस्तों की तिजोरिया भरने के काम में लगी हुई है। इस अंधी लूट से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए समय-समय पर धार्मिक मुद्दों पर देश का विभाजन करने की नापाक कोशिश की जा रही है।

मोदी सरकार की इस लूट और तानाशाही के खिलाफ सीटू ने पूरे देश भर में आवाहन किया है कि देश को बांटने वाली मजदूर विरोधी, राष्ट्र विरोधी, जनता विरोधी मोदी सरकार को उखाड़ फेंका जाए। इसी कड़ी को आगे बढ़ाने के लिए मजदूरों का घोषणा पत्र जारी किया गया व Loksabha Chunav में भाजपा की मोदी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया गया।