HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

अंतरिम बजट गुड, युवाओं महिलाओं किसानों को मिला बल  : बिंदल 

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

शिमला : 2024 के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत मोदी सरकार के बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. राजीव बिंदल ने कहा कि विगत 10 वर्षों में भारत की आर्थिकी सुदृढ़ हुई है और 7 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर के साथ भारत की आर्थिकी ...

विस्तार से पढ़ें:

शिमला : 2024 के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत मोदी सरकार के बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. राजीव बिंदल ने कहा कि विगत 10 वर्षों में भारत की आर्थिकी सुदृढ़ हुई है और 7 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर के साथ भारत की आर्थिकी बढ़ी है जो इससे पूर्व कभी नहीं हुआ।

डाॅ. बिन्दल ने कहा कि गत वर्ष ढांचागत विकास (ब्ंचपजंस म्गचमदकपजनतम) में 18.06 लाख करोड़ रू0 की बढ़ोतरी हुई है जो आशा, अपेक्षाओं से बहुत अधिक है। जो बजट 2024 के लिए प्रस्तुत किया गया है वह गरीब का बजट है जिसके अंतर्गत 2 करोड़ नये पक्के मकान बनाने का प्रावधान किया है। यह बजट किसानों को समृद्ध करने का बजट है जिसमें 11.08 करोड़ किसानों को किसान सम्मान निधि लगातार दी जाएगी व विगत साल में एम0एस0पी0 में 50 प्रतिशत की वृद्धि की है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 2.8 लाख करोड़ रू0 किसानो को डी0बी0टी0 के माध्यम से बांटा गया है। यह बजट महिलाओं के उत्थान के लिए काम करेगा जिसमें 80 लाख स्वयं सहायता समूहो की बहनों को उनका कारोबार बढ़ाने के लिए सहयोग दिया जाएगा और 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य रखा है। गरीबों के स्वास्थ्य की देखरेख करने वाली अत्यंत महत्वपूर्ण योजना आयुष्मान भारत का दायरा बढ़ाया जाएगा व आंगनवाड़ी वर्कर, आंगनबाड़ी सहायिका व आशा वर्कर जैसी अनेक श्रेणी के लोगांे को इस योजना के अंतर्गत लाभान्वित किया जाएगा। 40 करोड़ मुद्रा योजना लोन देने का लक्ष्य रखा गया है जिसमें 75 प्रतिशत बहनों को लाभ मिलेगा। स्वनिधि योजना के अंतर्गत 78 लाख स्ट्रीट वेन्डर यानि रेहड़ी फहड़ी वालो को लाभान्वित किया जाएगा और 28 लाख लोग इनमें से ऐसे हैं जिन्होनें 3 बार इस योजना का लाभ उठाया है। 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि युवाओं के रोजगार सृजन और युवाओं के लिए रिसर्च वर्क हेतु एक लाख करोड़ रू0 का कोर्पस रखा गया है जो रोजगार सृजन के लिए बैकबोन का काम करेगा। 2024-25 के बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट हेतु गत वर्ष से दोगुना प्रावधान किया है। ज्ञात रहे कि गत वर्ष डिजिटल इंडिया (डी0बी0टी0) के माध्यम से 38 लाख करोड़ रू0 विभिन्न लाभार्थियों को भेजा गया है जिससे 2 लाख 8 हजार करोड़ रू0 की बचत हुई अर्थात पूर्व की सरकारों में भारी भरकम पैसा भ्रष्टाचार में चला जाता था वह डी0बी0टी0 के माध्यम से रूका। 2047 में भारत विकसित राष्ट्र की श्रेणी में अग्रणी भूमिका निभाए इस दृष्टि से यह बजट अत्यंत लाभकारी है। 

डाॅ. बिन्दल ने कहा कि गरीब लोगों के जनधन के खाते अब बढ़कर 51 करोड़ हो गए हैं। उन्होनें कहा कि भारत की इकोनोमी, स्थिर इकोनामी की श्रेणी में आकर खड़ी हुई है। मोदी जी के नेतृत्व में कोविड महामारी के बावजूद भारत आर्थिक रूप से लगातार मजबूत हो रहा है और 2014 की तुलना में जब कांग्रेस पार्टी से सरकार मोदी जी की तरफ आई थी तो फ्रेजाईल इकोनोमी से स्टेबल इकोनोमी बनकर बढ़े है और अगले तीन साल में मोदी जी के नेतृत्व में भारत दुनिया की तीसरी आर्थिक महाशक्ति बनेगा।

डाॅ. बिन्दल ने कहा कि इस बजट में गरीब का विकास, युवाओं का विकास, महिलाओं का विकास और किसानो का विकास सुनिश्चित किया है और इन चार वर्गों की भागीदारी से भारत दुनिया की महाशक्ति बनेगा।