HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Ind vs Eng: आखिरी टेस्ट से पहले ही टीम रोहित ने अंग्रेजों से छीन ली सीरीज

By Alka Tiwari

Published on:

Ind vs Eng

Summary

Ind vs Eng: भारत ने चौथे टेस्ट में इंग्लैंड को पांच विकेट से हरा दिया है. इस जीत के साथ टीम इंडिया ने पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है. भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा मुकाबला (Ind ...

विस्तार से पढ़ें:

Ind vs Eng: भारत ने चौथे टेस्ट में इंग्लैंड को पांच विकेट से हरा दिया है. इस जीत के साथ टीम इंडिया ने पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है. भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा मुकाबला (Ind vs Eng) बेहद रोमांचक रहा. टॉस जीतकर इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 353 रन बनाए थे. जवाब में भारत की पहली पारी 307 रन पर समाप्त हुई थी. इसके बाद इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में 145 रन पर सिमट गई और भारत को 192 रन का लक्ष्य मिला. जवाब में भारत ने पांच विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर लिया। मैच चौथे दिन ही समाप्त हो गया.

Ind vs Eng

IPL 2024: CSK और RCB के बीच इस दिन होगा ओपनिंग मुकाबला

1. Ind vs Eng में जायसवाल का तूफानी अंदाज 

इसमें दो राय नहीं कि Ind vs Eng में जायसवाल भारत की जीत में सबसे बड़ी वजह बनकर उभरे हैं. उनका कद और यश दोनों का ही ग्राफ बहुत ही तेजी से ऊपर गया है. और ऐसा हुआ है दोनों टीमों सबसे ज्यादा रन (अभी तक 4 टेस्ट में 655 रन). आप समझ सकते हैं कि जायसवाल के बाद दूसरे नंबर पर शुभमन (342) के बीच कितना ज्यादा अंतर है. जायसवाल के प्रदर्शन की यूएसपी (यूनीक सेलिंग प्वाइंट्स) रहे दो लगातार दोहरे शतक और उनका 93.57 का औसत. अभी एक टेस्ट बाकी है मेरे दोस्त!

2. जडेजा हैं ऑलराउंडर !

भले ही चौथा टेस्ट मैच ( Ind vs Eng) जडेजा के लिए बल्ले से तुलनात्मक रूप से फीका रहा, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि जडेजा ने अभी तक खेले तीन टेस्ट में अंग्रेजों पर गेंद और बल्ले दोनों से बहुत ही करारा वार किया. रांची में उन्होंने पहली पारी सहित कुल 5 विकेट लिए. वहीं, अभी तक जडेजा तीन मैचों में 17 विकेट लेकर संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर हैं, तो बल्ले से भी जलवा बिखरते हुए जड्डू ने तीन टेस्ट मैचों में 43.4 के औसत, एक शतक और एक अर्द्धशतक से 217 रन बनाए हैं. 

3.  बुमराह जैसा कोई नहीं!

जब बुमराह इलेवन में होते हैं, तो इसका असर कितना गहरा होता है, यह इस पेसर ने विशाखापट्टम में दूसरे टेस्ट में दिखाया. जसप्रीत ने पहली पारी में 45 रन पर 6 सहित मैच में 9 विकेट लेकर दिखाया कि इस समय पूरी दुनिया में जस्सी जैसा कोई नहीं! यह वही टेस्ट है, जिसमें उनकी ऐतिहासिक यॉर्कर हमेशा के लिए फैंस की यादों में समा गई. चौथे टेस्ट (Ind vs Eng) में आराम पर गए बुमराह अभी तक तीन टेस्ट में 17 विकेट लेकर सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में दूसरे नंबर पर हैं 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

4. रोहित शर्मा का जवाब नहीं

बहुत से फैंस कह सकते हैं कि रोहित शर्मा का बल्ला Ind vs Eng में भला कहां खास बोला है. लेकिन सच यह है कि बिना मुख्य खिलाड़ियों के रोहित ने जैसे अपनी कप्तानी से टीम को संभाला है. और इसमें उनके एक शतक और एक अर्द्धशतक से 37.12 के औसत से अभी तक बनाए गए 297 रनों को जोड़ दिया जाए, तो इस बात का असर टीम के हितों पर बहुत ही ज्यादा पड़ा है. रोहित ने युवा खिलाड़ियों के साथ टीम को एक धागे में पिरोए रखा, तो वहीं जुरेल और सरफराज जैसे खिलाड़ियों को टेस्ट कैप देने के फैसले में भी शामिल रहे. 

5. ध्रुव जुरेल ने चौंकाया

अगर इशान किशन उपलब्ध रहते, तो क्या होता? बहरहाल, अब इस सवाल के कोई मायने नहीं हैं. खेल में जो होता है, वह वर्तमान होता है. और आज का सच यह है कि हर ओर ध्रुव जुरेल की चर्चा है. और अगले कई टेस्ट मैचों में किसी भी विकेटकीपर के लिए दरवाजे बंद हो गए हैं. रांची में जिस तरह उन्होंने पहली पारी में 90 और दूसरी पारी में नाबाद 39 रन बनाकर जीत में सबसे अहम भूमिका निभाकर प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता, वह करोड़ों फैंस की यादों में हमेशा के लिए सुखद एहसास बनकर समा गया. निश्चित तौर पर कई कारणों में जुरेल भारत की सीरीज फतह में पांचवां सबसे बड़ा कारण रहे. 

read here:

Alka Tiwari

अलका तिवारी, उत्तराखंड की वरिष्ठ महिला पत्रकार हैं। पिछले एक दशक से अधिक समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। प्रिंट मीडिया के विभिन्न संस्थानों के साथ ही अलका तिवारी इलेक्ट्रानिक मीडिया, दूरदर्शन व रेडियो में भी सक्रिय रहीं हैं। मौजूदा वक्त में डिजिटल मीडिया में सक्रियता है।