HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Himachal : विपक्ष पर सरकार के मंत्रियों का हमला : सत्ता हथियाने की साजिश कर रही भाजपा 

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

Himachal : शांता कुमार की सलाह पर चिंतन करें सत्ता के लोभी भाजपा नेता बोले पठानिया Himachal : डिप्टी चीफ व्हीप केवल सिंह पठानिया ने भाजपा नेताओं को पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की सलाह पर चिंतन करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार ...

विस्तार से पढ़ें:

Himachal : शांता कुमार की सलाह पर चिंतन करें सत्ता के लोभी भाजपा नेता बोले पठानिया

Himachal : डिप्टी चीफ व्हीप केवल सिंह पठानिया ने भाजपा नेताओं को पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की सलाह पर चिंतन करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार का यह कथन बिल्कुल सही है कि सिर्फ राम मंदिर का निर्माण करना ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि हमें भगवान राम के आदर्शों को जीवन में अपनाना होगा। उन्होंने कहा कि भगवान राम के आदर्शों को भुलाकर धन-बल और अन्य हथकंडे अपनाकर सत्ता हथियाने की साज़िशें रच रहे हैं। भाजपा को न नैतिकता की परवाह है और न ही भगवान राम के आदर्शों की, बल्कि उनके नेताओं सत्ता मोह में फँसे हैं। 

केवल सिंह पठानिया ने कहा कि राम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं, जबकि भाजपा नेता मर्यादाओं को तार-तार कर घटिया स्तर की राजनीति पर उतारू हैं। आज भाजपा का दूर-दूर तक भगवान राम से कोई नाता नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के छह बाग़ियों और तीन निर्दलीयों का भाजपा में शामिल होना, इस बात की पुष्टि करता है कि सरकार गिराने की साज़िशों के सूत्रधार Himachal भाजपा के नेता हैं। भाजपा ने ही उन्हें हेलीकॉप्टर और चार्टर्ड प्लेन की सैर कराई और एक महीने तक उन्हें महँगे फाइल स्टार होटलों में ठहराने के लिए करोड़ों रुपए की धनराशि खर्च की।

Himachal : विपक्ष पर सरकार के मंत्रियों का हमला : सत्ता हथियाने की साजिश कर रही भाजपा 

उन्होंने कहा कि आज भाजपा नेता 9 पूर्व विधायकों को अपनी पार्टी में जोड़कर जश्न मना रहे हैं, नाटियां डाल रहे हैं लेकिन अपनी पार्टी में सुलग रही चिंगारी को वह देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं। भाजपा नेता यह भी भूल रहे हैं कि लोकतंत्र में जनता-जनार्दन ही सर्वोपरी है। अंततः सभी को जनता की अदालत में जाना होगा और प्रदेश के मतदाता लोकतंत्र के साथ हुए इस भद्दे मज़ाक़ को देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को प्रदेश के मतदाता सबक़ सिखाने को तैयार बैठे हैं और जनादेश का अपमान क़तई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Himachal : 9 विधायकों का शिमला पहुंचने पर भाजपा ने किया जोरदार स्वागत

डिप्टी चीफ व्हीप केवल सिंह पठानिया ने कहा कि कांग्रेस के बागी आज उस भाजपा की गोद में जाकर बैठ गए हैं, जिन्होंने Himachal के लाखों युवाओं के भविष्य को अंधकार में धकेला। पूर्व भाजपा सरकार के कार्यकाल में Himachal प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग में पेपरों की नीलामी हुई और पुलिस भर्ती पेपर लीक हुआ। आज भी भाजपा नेता महिलाओं को दी जाने वाले 1500 रुपए पेंशन को रुकवाने के प्रयास कर रहे हैं। भाजपा न केवल युवा और महिला विरोधी है, बल्कि Himachal विरोधी भी है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

उन्होंने कहा कि जो बागी नेता अपनी मां समान कांग्रेस पार्टी के नहीं हुए वो जनता के क्या होंगे। आज वह सिर्फ और सिर्फ स्वार्थ सिद्धी के लिए पार्टी के ग़द्दार बनकर भाजपा में शामिल हुए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ताक़त प्रदेश की जनता है और जनता का पूरा आशीर्वाद मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के साथ है। उन्होंने कहा कि जनता के स्नेह से वर्तमान सरकार अपना पांच वर्ष का कार्यकाल अवश्य पूरा करेगी और भाजपा की कोई भी साज़िश कामयाब नहीं होगी। 

Himachal : भाजपा की चाल, चेहरा, चरित्र प्रदेश की जनता के सामने बेनकाब : कांग्रेस 

स्वास्थ्य मंत्री धनी राम शांडिल और उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि भाजपा की चाल, चेहरा और चरित्र Himachal प्रदेश की जनता के सामने बेनक़ाब हो गया है। कांग्रेस के बाग़ी विधायकों के भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने से यह बात स्पष्ट हो गई है कि इस पूरे षड्यंत्र के पीछे भाजपा नेताओं का सत्ता लोभ ही था। भाजपा की शह पर ही बाग़ियों ने लोकतांत्रिक तरीक़े से चुनी गई सरकार को गिराने की साज़िश रची और जन भावनाओं से खिलवाड़ किया है।

यही नहीं, भाजपा के प्रभाव में आकर ही बागियों ने राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार के विरुद्ध वोट दिया। मंत्रियों ने कहा कि वह नेता कांग्रेस पार्टी पर आज सवाल उठा रहे हैं, जिन्हें पार्टी ने हाथ के चुनाव चिन्ह पर चुनाव जितवाया, सम्मान दिया और विभिन्न पदों पर सुशोभित किया। सत्य यह है कि सभी बागी निजी स्वार्थ के कारण कांग्रेस पार्टी से बाहर गए हैं और इसका प्रदेश की जनता के हित से कोई लेना-देना नहीं है।

मंत्री बोले, पूरे षड्यंत्र के पीछे था भाजपा नेताओं का सत्ता लोभ 

कांग्रेस पार्टी को अपनी मां का दर्जा देने वालों ने अपनी मां की पीठ में छुरा घोंपा है और आज भाजपा की कठपुतली बन गए हैं। छह बागी विधायकों ने Himachal के इतिहास में अवसरवादी राजनीति का एक काला अध्याय जोड़ दिया है, जिसके लिए उन्हें प्रदेश की जनता कभी माफ़ नहीं करने वाली है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व में राज्य सरकार ने सवा साल के छोटे से कार्यकाल में चुनाव के दौरान दी गई दस गारंटियों में से पांच को पूरा कर दिया है।

उन्होंने कहा कि सरकारी क्षेत्र में ही 22 हजार से अधिक पद भरे जा रहे हैं और स्वरोज़गार के अवसर प्रदान करने के लिए 680 करोड़ रुपए की स्टार्ट-अप योजना शुरू की गई है। सरकारी कर्मचारियों के साथ किए गए वादे को निभाते हुए पहली ही कैबिनेट की बैठक में पुरानी पेंशन स्कीम बहाल की। उन्होंने कहा कि महिलाओं को 1500 रुपए देने का वादा भी पूरा कर दिया गया है। दूध पर समर्थन मूल्य देने वाला Himachal प्रदेश देश का पहला राज्य है। 

Himachal : छह बागियों सहित तीन निर्दलीय भाजपा की राह पर ……….

मंत्रियों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हर चुनौती का सामना करने में समक्ष है और पार्टी के सभी नेता व कार्यकर्ता एकजुट हैं। जनता ही कांग्रेस पार्टी की ताक़त है। आने वाले लोकसभा चुनाव और उपचुनाव में प्रदेश के मतदाता धन-बल की राजनीति को करारा जवाब देगी। कांग्रेस के प्रत्याशी बड़े अंतर से विजयी होंगे और प्रदेश की जनता स्वार्थी ताक़तों और लोकतंत्र का मज़ाक़ बनाने वालों को सबक़ सिखाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता का समर्थन मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के साथ है और Himachal प्रदेश में आया राम-गया राम की संस्कृति नहीं चलेगी।