HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

Himachal : पत्नी के वियोग में खोया मानसिक संतुलन, 26 वर्षों बाद मिले परिजनों से : पढ़िए कभी न भुलाई जाने वाली प्रेमकथा

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

Himachal पुलिस के नवीन कुमार बने सूत्रधार  Himachal News : पृथ्वी सिंह 26 वर्षों बाद जब बेटी व परिजनों से मिले तो खुशियों का ठिकाना न रहा। यह किसी भी परिवार के लिए बेहद मार्मिकता वाले पल हो सकते है। पृथ्वी सिंह को परिवार से मिलाने की कहानी Himachal Police ...

विस्तार से पढ़ें:

Himachal पुलिस के नवीन कुमार बने सूत्रधार 

Himachal News : पृथ्वी सिंह 26 वर्षों बाद जब बेटी व परिजनों से मिले तो खुशियों का ठिकाना न रहा। यह किसी भी परिवार के लिए बेहद मार्मिकता वाले पल हो सकते है। पृथ्वी सिंह को परिवार से मिलाने की कहानी Himachal Police के जवानों ने पूरी की है। जिनके नेटवर्क ने इस अकल्पनीय कार्य को करके दिखाया है। इसलिए आज प्रदेश की जनता को जहां Himachal Police की काबिलियत पर गर्व हो रहा है। वहीं पृथ्वी सिंह का पूरा परिवार और गांव आभार प्रकट करते नहीं थक रहा है। 

Himachal : पत्नी के वियोग में खोया मानसिक संतुलन, 26 वर्षों बाद मिले परिजनों से : पढ़िए कभी न भुलाई जाने वाली प्रेमकथा

Himachal : जानिए पृथ्वी सिंह के बारे में 

बात वर्ष 1998 की है जब जिला राजस्थान के गांव भादवासी निवासी नारायण सिंह की पुत्रवधू व पृथ्वी सिंह की धर्म पत्नी संतोष कंवर का आकस्मिक निधन हो गया। पृथ्वी सिंह अपनी पत्नी संतोष कंवर से बेहद प्रेम करते थे। दोनो पति -पत्नी के प्रेम, एक-दूसरे के प्रति समर्पण, कर्तव्यनिष्ठा की कहानियों के चर्चे गांव ही नहीं बल्कि पूरे क्षेत्र में शुमार थे। पूरे गांव में यह जोड़ी लैला-मजनू के नाम से विख्यात थी। अक्सर संतोष कंवर को गांव की सखी महिलाएं यह कहकर चिढ़ाया करती थी कि आपका पति आपसे बेपनाह मोहब्बत करता है। यदि तू कहीं इसकी जिंदगी से चली गई तो यह मानसिक रोगी हो जाएगा।

फिर समय ने ऐसी फिरकी पृथ्वी सिंह की जिंदगी में ली, जिसका साक्षी देश का हर वो कस्बा बना है जहां पृथ्वी सिंह की 26 वर्षों तक दिन और रात गुजरी होगी। संतोष कंवर की मृत्यु को मात्र 6 महीने ही बीते थे। पृथ्वी सिंह अपनी पत्नी के मृत्यु का गम सहन न कर पाए और मानसिक संतुलन खो बैठे। अपनी सुधबुध खोए हुए पृथ्वी सिंह अपने दो बच्चों में एक बेटा और एक बेटी को घर में छोड़कर देश के अलग-अलग राज्यों में पत्नी की खोज करते पूरे 26 वर्ष भटकते रहे। न रहने को छत, न खाने को भोजन, मतलब परस्त दुनिया की ठोकरें खाते हुए न जाने पृथ्वी सिंह कहां कहां भटकते रहे।

Himachal : विपक्ष पर सरकार के मंत्रियों का हमला : सत्ता हथियाने की साजिश कर रही भाजपा 

पृथ्वी सिंह बीते 5 वर्षों से हिमाचल प्रदेश के शिलाई विधानसभा में एक भिखारी की जिंदगी जी रहे थे। जहां वर्तमान में रोनहाट चौकी के जवानों ने पृथ्वी सिंह को स्पॉट किया और 26 वर्षों बाद  Himachal police ने इन्हें वापिस इनके खोए हुए घर पहुंचा दिया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Himachal Police के जवान नवीन कुमार व टीम की मेहनत लाई रंग 

Himachal police के थाना शिलाई में तैनात सिपाही नवीन कुमार व सहयोगी लम्बे समय से पृथ्वी सिंह की गतिविधियों पर ध्यान रखे हुए थे जब उन्हें यह जानकारी पता चल गई की पृथ्वी सिंह कोई गुप्त एजेंसी का एजेंट नहीं है न ही कोई गुप्तचर है। यह व्यक्ति केवल मानसिक रोगी है और किसी हादसे में अपना संतुलन खो बैठा है। तो उन्होंने पृथ्वी सिंह से पूछताछ शुरू की। कड़ी मेहनत के बाद पृथ्वी सिंह का नाम, गांव और राज्य पता का पता चल पाया। जिसके बाद Himachal Police की संयुक्त टीम ने सोशल मीडिया सहित टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए पृथ्वी सिंह की बेटी और परिजनों से संपर्क किया। और 26 साल पहले खोया हुआ पिता बेटी को वापिस दिलाया है।

बेटी से मिले पृथ्वी सिंह, बेटे का हो चुका है देहांत 

सूत्रों के अनुसार पृथ्वी सिंह की बेटी नरेश कंवर का विवाह राजस्थान के डिंडवाना निवासी बलबीर सिंह के साथ हुआ है। जबकि बेटा शिवराज का वर्ष 2013 में एक दुर्घटना ने देहांत हो चुका है। पिछले 26 वर्षों से बेटी नरेश कंवर ने अपने पिता को न जाने कहां-कहां नही ढूंढा, पर कोई सफलता हासिल नहीं हुई। फिर भी बेटी ने अपना मनोबल नहीं तोड़ा और अपने पति से अक्सर कहती रहती थी कि एक दिन उनके पिता उन्हें जरूर मिल जाएंगे। 

गौर हो कि यहां पृथ्वी की प्रेयसी उन्हें वापिस न मिल पाई लेकिन एक बेटी को उसका पिता 26 साल बाद जरूर मिल गया है। पिता- बेटी के इस अनूठे मिलन के लिए बेटी और पृथ्वी सिंह के अन्य रिश्तेदार Himachal Police के साथ सिपाही नवीन कुमार की टीम का अनन्त बार आभार जता रहे है। 

Himachal के शिलाई के पनोग में 5 वर्षो से रह रहा था पृथ्वी सिंह 

विभागीय जानकारी के अनुसार पृथ्वी सिंह Himachal प्रदेश की शिलाई विधानसभा के पनोग कस्बे में पिछले पांच सालों से रह रहा था। मानसिक संतुलन खराब होने के चलते पृथ्वी सिंह कई सालों से न नहाया था, न ही कपड़े बदले थे। जिस पर पुलिस ने बेहतरीन कार्य किया और पृथ्वी सिंह की शारीरिक और मानसिक स्थिति को जानने के बाद पृथ्वी सिंह के बाल कटवाकर, नहलाया गया और नए कपड़े पहनकर उचित भोजन की भी व्यवस्था की गई। परिजनों का पता लगाकर पृथ्वी सिंह को 26 वर्षों बाद उनके पैतृक घर राजस्थान परिजनों के पास पहुंचाया गया है।

Courtsey : DD News