HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

CSK Vs LSG: दीपक चाहर पर फूटा फैंस का गुस्सा, खराब फील्डिंग पर लगाई क्लास

By Alka Tiwari

Published on:

CSK VS LSG DEEPAK CHAHAR

Summary

CSK VS LSG: चेन्नई सुपर किंग्स और लखनऊ सुपर जायंट्स के बीच खेले गए मुकाबले में चेन्नई को अच्छा स्कोर बनाने के बावजूद करारी हार का सामना करना पड़ा। चेन्नई ने इस मैच में 210 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया। जिसका पीछा करते हुए एलएसजी ने 3 बॉल शेष ...

विस्तार से पढ़ें:

CSK VS LSG: चेन्नई सुपर किंग्स और लखनऊ सुपर जायंट्स के बीच खेले गए मुकाबले में चेन्नई को अच्छा स्कोर बनाने के बावजूद करारी हार का सामना करना पड़ा। चेन्नई ने इस मैच में 210 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया। जिसका पीछा करते हुए एलएसजी ने 3 बॉल शेष रहते 6 विकेट से मुकाबला जीत लिया। चेन्नई की गेंदबाजी बेहद खराब रही। उसकी फील्डिंग पर भी सवाल उठे।

CSK VS LSG: आंकड़े 200 पार फिर भी हुई CSK की हार, हार के ये हैं 3 गुनहगार..

CSK Vs LSG: दीपक चाहर पर फूटा फैंस का गुस्सा, खराब फील्डिंग पर लगाई क्लास

CSK VS LSG: हार के बाद फैंस के निशाने पर आए चाहर

CSK VS LSG: चेन्नई की हार के बाद दीपक चाहर फैंस के निशाने पर आ गए हैं। हालांकि उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। दो ओवर में दिए महज 11 रन और क्विंटन डी कॉक का बड़ा विकेट लेकर पहले ही ओवर में सफलता दिलाई, लेकिन उनकी खराब फील्डिंग ने इस पर पानी फेर दिया।

CSK VS LSG: बेहद खराब फील्डिंग

CSK VS LSG मैच में दीपक चाहर ने एक-दो नहीं बल्कि कई बार मिसफील्डिंग की। उन्होंने बाउंड्री पर लचर फील्डिंग का नजारा दिखाया। दीपक ने कम से कम तीन बाउंड्री छोड़ीं। इससे कांटे की टक्कर पर आए मैच में लखनऊ के बल्लेबाजों का आत्मविश्वास बढ़ा और आखिरकार लखनऊ को जीत मिली।

CSK VS LSG: पैरों के नीचे से निकल गई बॉल

19वें ओवर में जब क्रूशियल मोमेंट चल रहा था, तब दीपक ने बाउंड्री पर गेंद को मिसफील्ड किया जिसके कारण LSG को एक चौका मिला। गेंद उनके पैरों के नीचे से निकल गई। इसी तरह वे 18वें ओवर की आखिरी बॉल को बाउंड्री पर कैच नहीं कर सके। इससे पहले 16वें ओवर की दूसरी गेंद पर उन्होंने मिसफील्ड की और बॉल को बाउंड्री से जाने से नहीं रोक सके।

Alka Tiwari

अलका तिवारी, उत्तराखंड की वरिष्ठ महिला पत्रकार हैं। पिछले एक दशक से अधिक समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। प्रिंट मीडिया के विभिन्न संस्थानों के साथ ही अलका तिवारी इलेक्ट्रानिक मीडिया, दूरदर्शन व रेडियो में भी सक्रिय रहीं हैं। मौजूदा वक्त में डिजिटल मीडिया में सक्रियता है।