HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

कौन है हर्ष महाजन : जिसने कांग्रेस के किले में लगाई सेंध, कभी वीरभद्र सिंह के हुआ करते थे करीबी 

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

हर्ष महाजन ने चुनाव जीतने का रिकॉर्ड रखा बरकरार हर्ष महाजन ने राज्यसभा चुनाव जीतकर चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बरकरार रखा है। हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट के लिए 27 फरवरी को हुए चुनावो में बड़ा उलटफेर हुआ। जिसमे सत्तासीन कांग्रेस सरकार के प्रत्याशी को हरा हर्ष महाजन ने ...

विस्तार से पढ़ें:

हर्ष महाजन ने चुनाव जीतने का रिकॉर्ड रखा बरकरार

हर्ष महाजन ने राज्यसभा चुनाव जीतकर चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बरकरार रखा है। हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एक सीट के लिए 27 फरवरी को हुए चुनावो में बड़ा उलटफेर हुआ। जिसमे सत्तासीन कांग्रेस सरकार के प्रत्याशी को हरा हर्ष महाजन ने जीत हासिल की।  

हिमाचल प्रदेश के इतिहास में यह पहली बार है, जब सत्ता पक्ष का राज्यसभा सांसद चुनकर दिल्ली नहीं जा रहा है। विपक्ष में बैठी बीजेपी ने छह कांग्रेस विधायकों और तीन निर्दलीय विधायकों को अपने पक्ष में किया और हर्ष महाजन की जीत हो गई। हर्ष महाजन की जीत के बाद अब हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व वाली सरकार के सामने भविष्य के लिए भी सियासी संकट खड़ा हो गया है। 

कौन है हर्ष महाजन : जिसने कांग्रेस के किले में लगाई सेंध, कभी वीरभद्र सिंह के हुआ करते थे करीबी 

 कुल 68 वोटों में से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी के पक्ष में 34 वोट  पड़े, जबकि अन्य 34 वोट बीजेपी प्रत्याशी हर्ष महाजन के पक्ष में पड़े। इसके बाद नियम ड्रॉ ऑफ लॉट्स के तहत पर्ची निकाली गई। इस पर्ची में बीजेपी प्रत्याशी हर्ष महाजन का नाम निकला और हर्ष महाजन विजयी घोषित हुए। अब हर्ष महाजन हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा सांसद के तौर पर दिल्ली जाएंगे। इससे पहले इंदु गोस्वामी और प्रोफेसर सिकंदर कुमार हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। 

कौन है हर्ष महाजन

हर्ष महाजन पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री देस राज महाजन के बेटे हैं। इनका जन्म 12 दिसंबर 1955 को चंबा में हुआ था। बीकॉम व एमबीए श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, नई दिल्ली और दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से पढ़ाई की। 7 जून 1983 को उनकी शादी उमा सिंह से हुई। 

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष हर्ष महाजन ने 1985 में राजनीति शुरू की। 1994 तक युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे। 1993 में उन्होंने पहली बार विधायक का चुनाव लड़ा। चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे। 1994 से 1998 तक तत्कालीन वीरभद्र सिंह की सरकार में मुख्य संसदीय सचिव रहे। इसके बाद 1998 और 2003 में भी उन्होंने विधानसभा चुनाव जीता। हर्ष महाजन 2003 से 2007 तक तत्कालीन वीरभद्र सिंह की सरकार में पशुपालन मंत्री रहे। इसके बाद किसी चुनाव के बजाय संगठन को प्राथमिकता दी और कांग्रेस के मुख्य रणनीतिकार बन गए।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

लंबे समय तक कांग्रेस पार्टी में रहे हर्ष महाजन ने विधानसभा चुनावों से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था। लेकिन उस दौरान प्रदेश में बहुमत से कांग्रेस की सरकार बन गई। लेकिन इस बार हर्ष महाजन ने बड़ा दाव खेलते हुए कांग्रेस खेमे में सेंधमारी कर राज्य सभा संसद की की जीत हासिल की है। हर्ष महाजन की जीत के बाद बीजेपी प्रदेश में सरकार बनने के सपने देखने लगी है।

हर्ष महाजन के नाम है जीत की हैट्रिक

चंबा हलके से चुनावी समर में जीत की हैट्रिक लगाने का रिकॉर्ड भाजपा के स्व. किशोरी लाल वैद्य और कांग्रेस के हर्ष महाजन के नाम दर्ज है। वर्ष 1993 में सदर हलके से सागर चंद नैयर की टिकट कटवाकर हर्ष महाजन ने मोर्चा संभाला। हर्ष महाजन ने 1993 के चुनावों में भाजपा के किशोरी लाल को 13585 मतों से हराया। 1998 के चुनावों में हर्ष महाजन ने भाजपा के केके गुप्ता को 14411 और 2003 में भाजपा के बीके चौहान को 15 हजार से अधिक मतों से हराकर जीत की हैट्रिक अपने नाम की।

हर्ष महाजन का सियासी सफर

1986 से 1996 तक प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। पहला चुनाव 1993 चंबा सदर -1993 से 2007 तक तीन बार विधायक 1993 में मुख्य संसदीय सचिव रहे।  1998 में प्रदेश कांग्रेस का चीफ व्हीप चुने 2003 में कैबिनेट मंत्री बने।  2012 में राज्य सहकारी बैंक के चेयरमैन बने।

हर्ष महाजन ने चुनाव जीतने का रिकॉर्ड रखा बरकरार

विधानसभा में अल्पमत में होने के बावजूद भाजपा प्रत्याशी हर्ष महाजन ने राज्यसभा चुनाव जीतकर चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बरकरार रखा है। हर्ष महाजन आज तक कोई चुनाव नहीं हारे हैं। इस बार तो असंभव लग रही जीत प्राप्त की है। हर्ष महाजन पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री देस राज महाजन के बेटे हैं। 

हिमाचल में बड़ा उलटफेर : कांग्रेस के प्रत्याशी को हरा भाजपा के हर्ष महाजन ने जीती राज्यसभा सीट https://rb.gy/6tn28k

हर्ष महाजन की संपत्ति 

हर्ष महाजन की संपत्ति की अगर बात की  उनके पास पांच लाख और पत्नी के पास 75 हजार रुपये नकदी है। महाजन के पास हाईब्रिड इनोवा और मर्सिडीज बेंज कंपनी सहित एक अन्य कार और मोटरसाइकिल भी है। महाजन के पास 5.84 लाख रुपये के आभूषण हैं।

हर्ष महाजन की जीत के  बाद सुक्खू सरकार के खिलाफ ये प्रस्ताव ला सकती है बीजेपी

जानकारी के मुताबिक, अब बीजेपी मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ जल्द ही अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली है। अगर विधानसभा में स्पीकर इसकी मंजूरी नहीं देते हैं, तो विपक्ष में बैठी बीजेपी राज्यपाल के पास इस मांग को लेकर जाएगी। बीजेपी की ओर से रणनीति तय की जा रही है और संभव है कि बीजेपी कई अन्य कांग्रेस विधायकों को संपर्क करने की कोशिश करेगी। 

https://en.wikipedia.org/wiki/Harsh_Mahajan