HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

काण्डो-भटनोल के वास दलवाड में बनेगा भव्य गौधाम

By Sandhya Kashyap

Published on:

Summary

ग्रामीणों ने कई बीघा भूमि गौधाम के लिए की दान उपमण्डल शिलाई की पंचायत काण्डो-भटनोल के वास दलवाड में भव्य गौधाम का निर्माण किया जा रहा है। सड़कों पर भटक रही सैंकड़ो  बेसहारा गौमाता को सहारा मिलेगा। स्थानीय लोगों ने वास दलवाड में गौमाता की सेवा के लिए कई बीघा ...

विस्तार से पढ़ें:

ग्रामीणों ने कई बीघा भूमि गौधाम के लिए की दान

उपमण्डल शिलाई की पंचायत काण्डो-भटनोल के वास दलवाड में भव्य गौधाम का निर्माण किया जा रहा है। सड़कों पर भटक रही सैंकड़ो  बेसहारा गौमाता को सहारा मिलेगा। स्थानीय लोगों ने वास दलवाड में गौमाता की सेवा के लिए कई बीघा भूमि दान की है, जहाँ गौशाला निर्माण कार्य प्रगति पर है, साथ में लगती सैंकड़ो बीघा भूमि पहले से ही स्थानीयों का चारागाह है।

काण्डो-भटनोल के वास दलवाड में बनेगा भव्य गौधाम

ग्रामीणों ने कई बीघा भूमि गौधाम के लिए की दान

अखिल भारतीय गौरक्षा महाअभियान समिति के प्रदेश अध्यक्ष सुनील ठाकुर ने बताया कि पीठाधीश स्वामी श्री अभिमुक्तेश्वर शंकराचार्य जी की प्रेरणा से गौसेवा का भाव मन में जागा। गौसेवा का संकल्प लेकर खुद से पहल कर गौशाला बनाने के लिए अपनी भूमि दान कर नींव रखी, तथा स्थानीय लोगों से गौमाता के लिए चारागाह की स्वीकृति मिल जाने के बाद स्थानीय युवाओं, गौरक्षकों और सरकार के पूर्ण सहयोग से गौधाम का कार्य जोरो पर है। शुरुआत में लगभग सौ गाय की  देखभाल व उपचार की व्यवस्था स्थापित करने का लक्ष्य रखा गया है।

गोरक्षा मुहिम में बने सहयोगी – सुनील ठाकुर

उन्होंने बताया कि दलवाड में बन रहे गौधाम में गौशाला के साथ-साथ पशु चिकित्सा का भी निर्माण होना है, तथा इतने बड़े उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए बड़े स्तर के सहयोग की भी आवश्यकता होती है। जिसके लिए अखिल भारतीय गौरक्षा समिति इकाई शिलाई ने गौसेवा के पुण्य कार्य  में प्रतिदिन मात्र एक न्यूनतम सदस्यता ली जाएगी। जिसके लिए गौमाता प्रेमी अपना सहयोग के तौर पर पंजाब नेशनल बैंक ब्रांच शिलाई  की खाता संख्या 9300000100046047, IFSC- PUNB0930000 में अपना अंशदान अदा कर सकते हैं। जो अखिल भारतीय सर्वदलीय गौरक्षा महाअभियान समिति इकाई शिलाई के नाम पर खोल गया है तथा गौधाम आकर भी गौशाला निर्माण में सेवाभाव अर्पित कर सकता है।

संत श्री शिवदास महाराज बृजवासी वृंदावन ने गौधाम निर्माण को बताया पूरे क्षेत्र का भाग्य उदय

महाकाली मंदिर देउलकांडा में सालों से तपस्या कर रहे संत श्री शिवदास महाराज बृजवासी ने बताया कि वर्तमान में गौमाता की दुर्दशा देख कर मन बहुत पीड़ित होता है। सड़कों पर भूखी, प्यासी, लावारिस घूम रही गौमाता को सम्मान देने की सकारात्मक धारणा क्षेत्र के लोगों के अंदर जागी है। गौधाम का निर्माण कार्य देख कर मन हर्षित हुआ। यहाँ के लोगों के अंदर गौमाता के सेवा का भाव बिल्कुल भी नही है। पहली बार गौरक्षा की इस मुहिम से पूरे क्षेत्र का बेड़ा पार होने वाला है या यूं कहें कि ईश्वर की कृपा खूब बरसेगी, क्योंकि हिन्दू धर्म में गोसेवा करना सबसे बड़ा पुण्य है। 

वेद पुराणों के अनुसार गाय में देवी-देवताओं का वास होता है। गाय की पूजा करने से सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त होता है। उन्होंने सनातन धर्म और संस्कृति को बचाने के लिए हर सनातनी को गौ सेवा जैसे अमूल्य कार्यों में दिल खोल कर सेवा करने का आह्वान किया, और कहा कि वो दिन दूर नहीं जब गौमाता के पाप से संपूर्ण सृष्टि का नाश होगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Also Read : हिमाचल बजट : कर्मचारियों को डीए, 45 रूपए में गाय 55 रूपए में भैंस का दूध खरीदेगी सरकार, पढ़े विस्तार से https://rb.gy/nrdu7u