HomeOnline Quizस्वास्थ्यशिक्षा/नौकरीराजनीतिसंपादकीयबायोग्राफीखेल-कूदमनोरंजनराशिफल/ज्योतिषआर्थिकसाहित्यदेश/विदेश

आदमखोर गुलदार आखिरकार पिंजड़े में हुआ कैद, 2 बच्चों को बनाया था निवाला

By Alka Tiwari

Published on:

आदमखोर गुलदार

Summary

आदमखोर गुलदार किमाड़ी को वन विभाग की टीम ने पिंजरे में कैद कर लिया है। जिसके बाद दूनवासियों ने राहत की सांस ली। पिंजरे में कैद हुआ आदमखोर गुलदार बता दें आदमखोर गुलदार ने अभी तक दो बच्चों को मौत के घाट उतार चुका था। जबकि एक बच्चा बुरी तरह ...

विस्तार से पढ़ें:

आदमखोर गुलदार किमाड़ी को वन विभाग की टीम ने पिंजरे में कैद कर लिया है। जिसके बाद दूनवासियों ने राहत की सांस ली।

आदमखोर गुलदार

पिंजरे में कैद हुआ आदमखोर गुलदार

बता दें आदमखोर गुलदार ने अभी तक दो बच्चों को मौत के घाट उतार चुका था। जबकि एक बच्चा बुरी तरह घायल हुआ था। जिसके बाद से दूनवासियों में दहशत का माहौल था। गुलदार के पिंजरे में कैद होने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी पर आय से अधिक संपत्ति व मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप

दो बच्चों को बना चुका था निवाला

किमाड़ी में 25 फरवरी को किमाड़ी मार्ग पर गल्जवाड़ी गांव से करीब दो किलोमीटर नीचे वन क्षेत्र में वन गुर्जर बस्तीमें गुलदार ने शौच के लिए गए 10 साल के बच्चे को अपना निवाला बनाया था। इसके अलावा राजपुर थाना क्षेत्र के सिंगली गांव में घर के आंगन में खेल रहे साढे तीन साल के बच्चे को गुलदार उठाकर ले गया था। गुलदार के जानलेवा हमले में बच्चे की मौत हो गई थी। बच्चे के शव को घर से कुछ दूरी से बरामद किया गया था। घटना के बाद से ग्रामीणों के साथ-साथ वैन विभाग में भी हड़कंप मचा हुआ था।

cm ने लिया था मामले का संज्ञान

मामले का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी सख्त रवैया अपनाते हुए वन विभाग के अधिकारियों को जल्द से जल्द गुलदार को पकड़ने के दिशा-निर्देश दिए थे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Alka Tiwari

अलका तिवारी, उत्तराखंड की वरिष्ठ महिला पत्रकार हैं। पिछले एक दशक से अधिक समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। प्रिंट मीडिया के विभिन्न संस्थानों के साथ ही अलका तिवारी इलेक्ट्रानिक मीडिया, दूरदर्शन व रेडियो में भी सक्रिय रहीं हैं। मौजूदा वक्त में डिजिटल मीडिया में सक्रियता है।